Categories
Jankari

Peer pressure kya hota hai और क्यूँ होता है?

दोस्तों पीयर प्रेशर का मतलब होता है अपने ही ग्रुप के सदस्यों के द्वारा बनाए गए pressure जिसमे हमसे हर पल कुछ करने की अपेक्षा रहती है.

दोस्तों यहां पर peer का मतलब होता है हमारे चारों तरफ हमारे दोस्त.

यह ग्रुप अक्सर हमारी उम्र के हमारे दोस्त होते हैं जो हमारे साथ जुड़े हुए होते हैं.

इसीलिए यह शब्द peer pressure आया हुआ है क्योंकि इससे हमारी दोस्तों की वजह से बनी हुई दोस्ती बयान होती है जिससे हमारे ऊपर कोई दवा बनता है किसी काम को करने के लिए.

हालाकि  पीयर प्रेशर हमेशा नकारात्मक नहीं होता है लेकिन इससे हमारे ऊपर एक अपेक्षा हमेशा की जाती है.

आईये peer pressure के बारे में अधिक जानकारी लेते है, जैसे की:

  • Peer pressure कितने तरह के होते है?
  • Peer pressure होने के क्या संकेत होते है?
  • कैसे बचे peer pressure से? आदि

Peer pressure कितने तरह के होते है? (Types of peer pressure in Hindi?)

Peer pressure 2 तरह के होते है:

  1. सकारात्मक peer pressure

दोस्तों सकारात्मक peer pressure का मतलब होता है एक ऐसी स्थिथि जिसमे आप के ऊपर अच्छा दबाव बनता है जिससे आप ज़िन्दगी में कुछ करने के लिए motivation महसूस करते है.

इसकी मदद से बच्चे sports में रूचि रखते है और आगे बढ़ने के लिए प्रेरित होते है.

यह सकारात्मक तरीके से काम करता है और आप आगे बढ़ते रहने के लिए हमेशा इच्छुक होते है.

समबन्धित जानकारी: Sakaratmak soch कैसे बनाए?

  1. नकारात्मक peer pressure

नकारात्मक peer pressure का मतलब होता है ऐसी स्थिथि जिसमे आप के ऊपर बूरा दबाव बनता है जिससे आप के ज़िन्दगी में इसका बुरा असर पड़ता है.

इससे आपकी सोच पर भी असर पड़ता है.

आपके अंदर competition की भावना बढ़ती है जिससे आप हमेशा यह सोचते है की competition ही हमेशा सब कुह है.

आप और कुछ सोच नहीं पाते है जैसे की कैसे मुश्किल हालातों से जूझ सकें और मेहनत का परिणाम क्या होता है आदि.

Peer pressure क्यूँ होता है? (Why do we face peer pressure in Hindi?)

Peer pressure होने के कई कारण होते है, जैसे की:

  • अपने उम्र के बच्चों के बर्ताव की वजह से (Same age peer pressure)

कई बार बच्चे अपने उम्र के दुसरे बच्चों की जीवन शैली को देखकर दबाव महसूस करते है जिसकी वजह से उन्हें बेवजह peer pressure महसूस होता है.

यह किसी भी कारण हो सकता है.

ज्यादातर लोग अपने उम्र के बच्चों के बर्ताव की वजह से peer pressure महसूस करते है.

  • Social media का प्रभाव (Influence of Social Media)

दोस्तों कई बार social media हमारी ज़िन्दगी में बुरा असर लेकर आती है.

Social Media और mobile फ़ोन की addiction हमारे लिए सही नहीं होता है जिससे हमारे ऊपर peer pressure बनता है.

  • Fear of रिजेक्शन (दूसरों दे द्वारा न स्वीकार किये जाना)

कई बार लोगों के मन में दर बैठा रहता है रिजेक्शन का यानी की दूसरों के द्वारा स्वीकार न होने का.

यही दर इंसान को ज़िन्दगी में आगे बढ़ने से रोकती है और कई बार rejection के करीब ले जाती है.

  • Self esteem में कमी का होना (Feeling low in self esteem)

Self esteem का मतलब होता है अपने बारे में अच्छी विचार और धारणा बनाना.

अगर आपके मन में अपने लिए बुरे विचार और धारणा बैठी हुई है तो आप peer pressure का शिकार बन सकते हो.

Peer pressure के क्या फायदे होते है? (Advantages of peer pressure in Hindi?)

दोस्तों peer pressure के होने के 5 अच्छे फायदे होते है, जैसे की:

  1. सलाह लेना peer pressure का पहला फायदा है (Advice for youngsters)

दोस्तों peer pressure के होने का सबसे बड़ा फायदा यह है की आपको ज़िन्दगी में सही सलाह मिलती है.

जब बच्चे कुछ नै चीज़ करने को कोशिश कर रहे होते है तो दोस्तों की ज़रुरत बहुत पड़ती है.

क्यूंकि उन्हें बहुत चीज़ें पहली बार खुदसे करने का मौका मिलता है इसीलिए उन्हें peer pressure सही लगता है.

इससे आप ज़िन्दगी में कई चीज़ें सिख जाते है और आगे बढ़ते है.

  1. प्रोत्साहन देना (Encouragement for others)

Peer pressure के होने से बच्चे दूसरों को प्रोत्साहन देने में सहायक बनते है.

दोस्त एक दुसरे को हमेशा आगे बढ़ते रहने में ढकेलते रहते है जिससे वो कुछ नया करने की हमेशा कोशिश करते है.

  1. दोस्ती और सहारा बनना (Friendship and support for others)

Peer pressure के होने से आपको दोस्ती और सहारा मिलता है अपने दोस्तों का.

यह एक बड़ा कारण होता है आपकी ज़िन्दगी में दोस्ती और सहारा पाने का.

  1. नए अनुभव मिलते है peer pressure की वजह से (New experiences for life)

जब आप सकारात्मक रूप से अपने ऊपर pressure लेते है तो आपको कई नए अनुभव मिलते है.

इस अनुभव के होने से आपको कुछ कर दिखाने का जज़्बा बनता है.

  1. सामाजिक रूप से स्वीकार करना (Socialization for life)

दोस्तों peer pressure के होने से आप लोगों से मिलने का आग्रह रखते है.

इससे आप सामाजिक रूप से हमेशा सक्रिय होते है. 

आप यह सीखते है की कैसे हर परिस्थिथि में अपने आपको तैयार रखें और competitive spirit बनाए रखे.

Peer pressure के क्या नुक्सान होते है? (Disadvantages of peer pressure in hindi?)

दोस्तों peer pressure के होने के कुछ नुक्सान भी होते है, जैसे की:

  1. Anxiety और डिप्रेशन महसूस करना (Feeling anxiety and depressed over time)

दोस्तों कई बार peer pressure के होने से आप depressed महसूस करते है.

हम कई बार ऐसे काम करने में लगे रहते है जिसमे हम अपने आपको दुखी पाते है.

यही एक कारण होता है की हम depressed रहते है और हमेशा एक दबाव का अनुभव करते रहते है.

  1. झगड़ा करना और परिवार वालों से दूर होना (Arguments and distancing from family)

नकारात्मक peer pressure की वजह से हम अक्सर झगड़ों में उलझ जाते है.

हम कई बार अपने बारे में बुरा सोचने लगते है और इससे हम लोगों से दूर होने लगते है.

  1. पढ़ाई से दूर होना peer pressure का तीसरा नुक्सान है (Distractions from academics)

Peer pressure की वजह से हम कभी कभी अपनी पढ़ाई से दूर हो जाते है.

ऐसा इसीलिए होता है क्यूंकि जब हम peer pressure में होते है तब हमारे ख्याल हमें हमारे काम से दूर ले जाते है.

  1. सेल्फ कॉन्फिडेंस और सेल्फ एस्टीम में कमी महसूस करना (Low self confidence and self esteem)

हमेशा लगातार pressure महसूस करना आपके सेल्फ confidence और सेल्फ esteem पर असर डालता है.

जब आपके साथ सब कुछ बुरा होता जाता है तब आपकी confidence और self esteem में कमी होती है.

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

By Sanat Biswal

नमस्कार दोस्तों!!🙏

मेरा नाम Sanat Biswal है. मैं एक qualified चार्टर्ड एकाउंटेंट (Chartered Accountant) हूं.

मुझे ब्लॉगिंग में गहरी दिलचस्पी है और मुझे नई चीजों के बारे में जानना बहुत पसंद है.

मुझे सामान्य रूप से personality development, life goals और technology के बारे में हिंदी में Mokinys पर लेख लिखना पसंद है।

मेरे बारे में अधिक जानकारी के लिए, यहां क्लिक करें

धन्यवाद.

Leave a Reply

Your email address will not be published.